Posts

Showing posts from May, 2019

‘विश्व पर्यावरण दिवस’ पर इस वर्ष कई आयोजन करने की तैयारी

Image
विश्‍व पर्यावरण दिवस हर वर्ष 5 जून को मनाया जाता है। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय दरअसल यूएनईपी द्वारा घोषित विशेष थीम पर फोकस करते हुए विश्‍व पर्यावरण दिवस मनाता है। इसके साथ ही मंत्रालय इस अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित करता है। इस वर्ष की थीम है 'वायु प्रदूषण'। इससे जुड़ी परम्‍परा को ध्‍यान में रखते हुए इस वर्ष मुख्‍य कार्यक्रम 5 जून, 2019 को विज्ञान भवन में आयोजित किया जाएगा और इसकी अध्‍यक्षता पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री करेंगे। इस अवसर पर आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रमों के तहत पर्यावरण पर फिल्‍म प्रतिस्‍पर्धा का शुभारंभ किया जाएगा, कई पुस्‍तकों का विमोचन किया जाएगा और वायु प्रदूषण, अपशिष्‍ट प्रबंधन एवं 'वन : द ग्रीन लंग्स ऑफ सिटीज' पर तीन विषयगत सत्र आयोजित किये जाएंगे। विश्‍व पर्यावरण दिवस देश भर में राज्‍यों की राजधानियों और अन्‍य शहरों में भी मनाया जाएगा। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय में सचिव सी.के.मिश्रा ने नई दिल्‍ली में इस वर्ष की थीम पर आधारित गीत की लांचिंग की। इस अवसर पर इस थीम गीत से जुड़े कलाकार भी मौजूद थे। सचिव सी.

स्टोक्स के बदौलत इंग्लैंड ने जीत के साथ किया विश्वकप का आगाज़

Image
विश्वकप 2019 जीतने के लिए हॉट फेवरिट्स मानी जा रही इंग्लैंड की टीम ने वर्ल्ड कप के पहले ही मैच में यह बता दिया कि  ऐसा क्यों कहा जा रहा है। विश्वकप के पहले ही मैच में उन्होंने विश्वकप के एक और फेवरेट साउथ अफ्रीका को 104 रनों से ध्वस्त कर दिया। इस जीत के नायक रहे ऑलराउंडर बेन स्टोक्स। उन्होंने अपने बल्ले से पहले 89 बहुमूल्य रन बनाये फिर फील्डिंग में एक अविश्वसनीय कैच पकड़ा और एक रन आउट भी किया। उन्होंने गेंदबाज़ी में भी अपना योगदान देते हुए 1 विकेट भी चटकाया। इंग्लैंड के लिए उनका फॉर्म में आना बहुत अच्छी खबर हैं क्योंकि कुछ ही समय पहले ख़त्म हुए आईपीएल में उनका प्रदर्शन बहुत ही ख़राब रहा था। इस मैच से पहले टॉस जीतकर फाफ डु प्लेसिस ने फील्डिंग चुनी और पहले ही ओवर में उन्होंने एक अलग निर्णय लिया और गेंद दे दी इन फॉर्म इमरान ताहिर को जिन्होंने अपने कप्तान के फैसले पर खड़ा उतारकर इन फॉर्म जॉनी बेयरस्टो को 0 पर आउट कर दिया। इंग्लैंड के लिए यह एक बहुत बड़ा झटका था क्योंकि उनका फॉर्म बहुत ही अच्छा चल रहा था। खैर इस झटके के बाद जैसन रॉय और जो रुट ने इंग्लैंड की पारी को संभाला और दोनों ने अर्धशतक जड़

ऑस्‍कर अकादमी के प्रेसीडेंट जॉन बैली ने ‘डिजिटल डिलेमा’ का हिंदी संस्‍करण किया लांच    

Image
  नई दिल्‍ली में एक विशेष समारोह में मोशन पिक्चर आर्टस एंड सांइसेज (ऑस्‍कर अकादमी के रूप में लोकप्रिय) के प्रेसीडेंट जॉन बैली ने हाल ही में अकादमी प्रकाशन 'डिजिटल डिलेमा' के हिंदी संस्‍करण का ई लांच किया। इस अवसर पर जाने माने फिल्‍म एडीटर तथा अकादमी की गवर्नर कैरोल लिटिलटन, एफसीएटी के अध्‍यक्ष न्‍यायमूर्ति  मनमोहन सरीन,सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सचिव  अमित खरे, सीबीएफसी के अध्‍यक्ष  प्रसून जोशी अकादमी के सदस्‍य  उज्‍जवल निरगुडकर तथा एनएफएआई के निदेशक प्रकाश मगदम उपस्थित रहे। इस दौरान  जॉन बैली ने अपने भाषण में कहा कि भारत की फिल्‍म बिरादरी तक पहुंचने के लिए अकादमी प्रकाशन का हिंदी में अनुवाद महत्‍वपूर्ण है। फिल्‍म संग्रह माध्‍यम में टेक्‍नोलॉजी से हुए परिवर्तनों के कारण अनेक चुनौतियां आई हैं और यह पुस्‍तक प्रारंभ से डिजिटल सामग्री के संग्रहण को समझने और नियोजन में फिल्‍मकारों को सहायता देगी। डिजिटल डिलेमा पुस्‍तक मिल्‍ट शेल्‍टन तथा ऐंर्डी मालट्ज की लिखित पुस्‍तक है और विश्‍वभर में अनेक भाषाओं में इसका अनुवाद किया गया है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय का संगठन राष्‍ट्रीय फिल्‍म

अमेजन के माध्यम से ऑनलाइन खरीदे जा सकते है अब फास्टैग

Image
इलेक्ट्रॉनिक टोल भुगतान में सहायक फास्टैग अब ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म अमेजन पर उपलब्ध है। फास्टैग को जनवरी, 2019 में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा प्रोत्साहित कम्पनी आईएचएमसीएल ने लांच किया था। राजमार्ग प्राधिकरण का फास्टैग बैंक तटस्थ फास्टैग है यानी उपभोक्ता द्वारा किसी बिक्री केन्द्र से खरीद के समय या ऑनलाइन माध्यम से खरीद के लिए पहले से कोई बैंक निर्धारित नहीं है। उपभोक्ता गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध माई फास्टैग मोबाइल ऐप से फास्टैग को अपने वर्तमान बैंक खाते से लिंक किया जा सकता है। ऑनलाइन एनएचएआई फास्टैग की परिकल्पना स्वयं कार्य करने के रूप में की गई है यानी उपभोक्ता माई फास्टैग मोबाइल ऐप में उपभोक्ता तथा वाहन का विस्तृत ब्यौरा इंटर करके फास्टैग स्वयं सक्रिय कर सकते हैं। इसके बाद उपभोक्ता को अपनी पसंद के वर्तमान बैंक खाते से टैग को लिंक करना होगा। वर्तमान में बैंक से लिंक करने की सुविधा सात बैंकों यानी एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, इंडसइंड बैंक, पेटीएम पैमेंट्स बैंक तथा इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक में उपलब्ध है। एनएचएआई फास्टैग ऑनलाइन रूप से चार पहिया वाहनों

भाजपा ने खिचड़ी पर चर्चा करके शुरू की विधानसभा चुनाव की तैयारी

Image
     नई दिल्ली, 28 मई। भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के आवास पर आज दोपहर के भोजन पर लक्ष्य 2020 की तैयारियों व रणनीति को लेकर सभी जिलाध्यक्षों, पार्टी में शामिल हुये विधायकों, पूर्व विधायकों व पदाधिकारियों की एक बैठक हुई जिसमें खिचड़ी, रायता, दही और घी के जायके के साथ विधानसभा चुनावों में जीत सुनिश्चित करने को लेकर चर्चा की गई। इस बैठक में गांधी नगर के विधायक अनिल बाजपेयी, बिजवासन के विधायक कर्नल देवेन्द्र सहरावत, पूर्व विधायक भीष्म शर्मा, अमरीश गौतम, वेद प्रकाश, जिला अध्यक्ष मनोज शौकिन,  के साथ कई अन्य मौजूद रहे।     आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर हुई बैठक में जिला अध्यक्षों व पार्टी में शामिल हुये विधायकों को सम्बोधित करते हुये दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली की सत्ता में बैठी सरकार, दिल्ली को विकास के मुद्दे से भटकाना चाहती है, क्योंकि दिल्ली के लिए जो भी वादे किये गये, बीते साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में उनमें से एक भी पूरा नहीं किया गया। देश में मोदी दिल्ली में भाजपा तभी बनेगी बात और दिल्ली चले मोदी के साथ हमें इस नारे को दिल्ली

क्रिकेट विश्वकप 2019 का कौन होगा विजेता ?

Image
30 मई से शुरू हो रहे क्रिकेट के महाकुम्भ में दस टीमें भाग ले रही हैं, और इन दसों टीम के सर पर वर्ल्ड चैंपियन बनने का दवाब रहेगा। यह वर्ल्ड कप इंग्लैंड और वेल्स में खेला जाएगा। इस बार इस टूर्नामेंट का समीकरण बदला गया है। इस बार एक टीम हर टीम के साथ खेलेगी। यह चीज़ इस वर्ल्डकप को और भी ख़ास बनाती है। आईये देखते हैं उन टीमों की ताक़त और कमज़ोरी जो हमारे हिसाब से सेमीफइनल खेलेगी और यह भी देखते हैं की अनुमानित रूप से कौन सी टीम ग्रुप स्टेज में कौन सी पोजीशन पर रहेगी।   1) इंडिया ताक़त - भारत की टीम में हर डिपार्टमेंट में खिलाडी अच्छा कर रहे हैं। भारत के पास वर्ल्डकप जीतने के लिए एक सर्वगुण संपन्न टीम है। भारत के पास धोनी, कोहली, धवन और रोहित जैसे अनुभवी खिलाडी हैं तो पंड्या, कुलदीप, बुमराह जैसे युवा मैच विनर्स भी हैं।  कमज़ोरी - भारतीय टीम का हर सदस्य अभी - अभी आईपीएल खेलकर आया है, जहाँ पर एकदम सपाट पिचें थी और अचानक से उन्हें स्विंगिंग कंडीशंस में खेलना पड़ेगा। कुलदीप यादव का फॉर्म भारत के लिए एक परेशानी है।  अनुमानित पोजीशन - 1 या 2  2) इंग्लैंड ताक़त - वर्ल्डकप इंग्लैंड में ही होगा तो उ

सहारा - वीर नारियों के लिए एक हॉस्टल

Image
दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने वसंत कुंज,  नई दिल्ली में 'वीर नारियों' के लिए सहारा नौसेना होस्‍टल का उद्घाटन किया। नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा, पीवीएसएम, एवीएसएम, एडीसी  और नेवल वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन (एनडब्ल्यूडब्ल्यूए) की अध्‍यक्षा रीना लांबा, नौसेना के वरिष्‍ठ अधिकारी और अन्‍य गणमान्‍य व्‍यक्ति भी इस अवसर पर मौजूद थे। भारतीय नौसेना द्वारा नौसेना की वीर नारियों 'के लिए यह विशेष परियोजना शुरू की गई है। इस परियोजना का निर्माण नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन (एनबीसीसी) के साथ कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी(सीएसआर) की साझेदारी में किया गया है। यह हॉस्‍टल नौसेना की वीर नारियों के पुनर्वास की दिशा में लंबे समय से अनुभव की जा रही जरूरत का समाधान करेगा और वीर नारियों को एक संरक्षित और सुरक्षित वातावरण उपलब्‍ध करायेगा, जिससे उनके जीवन को नये सिरे से शुरू करने में मदद मिलेगी। सहारा हॉस्टल में गरिमापूर्ण जीवन के लिए सभी आवश्यक सुविधाओं से सुसज्जित कमरों के सैट बनाए गये हैं। इसके साथ-साथ कॉमन डाइनिंग हॉल और एक सामुदायिक हॉल का भी निर्माण किया गया है। सहारा हॉस्टल क

प्रवेश साहिब सिंह की दिल्ली के इतिहास में सबसे बड़ी जीत

Image
2019 के लोकसभा चुनावों में, प्रवेश साहिब सिंह ने 5,78,486 मतों के रिकॉर्ड तोड़ अंतर के साथ पश्चिम दिल्ली से जीत हासिल की। दिल्ली में सभी 7 विजयी उम्मीदवारों के बीच सबसे बड़ी जीत दर्ज करने के साथ साथ, उनकी यह जीत दिल्ली के इतिहास में आजादी के बाद से आम चुनावो में  सबसे बड़े मार्जिन  की जीत है । प्रवेश साहिब सिंह  2019 के लोकसभा चुनावों में पूरे भारत में शीर्ष दस उच्चतम मार्जिन वाली जीत की सूची में छठे स्थान पर रहे। प्रवेश  साहिब सिंह को पश्चिम दिल्ली में कुल 14,41,601 मतों में से 8,65,648 वोट मिले। 2014 के लोकसभा चुनावों में भी उन्होंने उच्चतम अंतर से जीत दर्ज की थी। उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनावों में अपने खुद के रिकॉर्ड को दोगुने से अधिक मार्जिन के साथ दोहराया।

समय के साथ विकसित हुईं परंपरागत खाद्य प्रणालियां गुणकारी, ज्यादा संतुलित और पौष्टिक: उप-राष्ट्रपति

Image
देशभर में विभिन्‍न राज्‍यों और विविध संगठनों द्वारा अंतर्राष्‍ट्रीय जैव-विविधता दिवस, 2019 मनाया गया। चेन्नई में विभिन्न हितधारकों की उत्साहपूर्ण भागीदारी के साथ राष्ट्रीय स्तर का समारोह  कलाईवनार आरंगम  आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया। उपराष्ट्रपति ने अपने भाषण में कहा कि प्रकृति और प्राकृतिक संसाधनों का संरक्षण भारतीय मानस और विश्वास का एक सहज पहलू है, जो धार्मिक प्रथाओं, लोककथाओं, कला एवं संस्कृति और दैनिक जीवन के हर पहलू में परिलक्षित होता है। मानव जाति के अस्तित्व के लिए जैव विविधता के महत्व पर बल देते हुए उन्होंने अन्‍य बातों के अलावा जैव विविधता से संबंधित बदलते प्रतिमानों के प्रति देश की सुविचारित प्रतिक्रियाओं, उपयुक्त नीतियों और जैविक विविधता अधिनियम, 2002 जैसे कानूनों के विकास और उससे प्राप्‍त उपलब्धियों का उल्लेख किया। अंतर्राष्‍ट्रीय जैव-विविधता दिवस, 2019 के विषय का उल्लेख करते हुए, उपराष्ट्रपति ने कहा कि भारत में, समय के साथ विकसित हुई पारंपरिक खाद्य प्रणालियाँ अधिक गुणकारी, संतुलित और पौष्टिक साबित ह

नतीजे बताएँगे लोकसभा चुनाव 2019 में लहर की दिशा

Image
वक्त है मोदी सरकार के पिछले पाँच सालों की कारगुजारियों के परिणाम का, भले ही काँग्रेस द्वारा उठाया गया मुद्दा राफेल हो या फिर मोदी द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक लेकिन फैसला जनता का ही है, जो वोट के रूप में तब्दील हो चुका है, बस नतीजे के लिये एक रात का इंतजार है। हर दिल में बस एक ही सवाल है, कौन बनेगा प्रधानमंत्री। हालांकि पिछले लोकसभा चुनाव में मोदी लहर थी, जिसके कारण भाजपा को कहीं पार्टी व प्रत्याशी के नाम पर वोट नहीं मिला बल्कि जनता ने एकमत से अपना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चुना था जिसके पीछे थी जनता की महत्वपूर्ण आकांछाएं, जैसे कि कश्मीर से धारा 370 का अन्त, चीन से सीमा विवाद का खात्मा, आंतकवादियों से सख्ती से निपटारा, किसानों का विकास, बेरोजगारों को रोजगार के अलावा कई ऐसे अहम मुद्दे थे, जो कि जनता के मन के भीतर होने के साथ ही भाजपा के मुख्य एजेण्डे में भी शामिल थे, लेकिन उनमें से कितने वादे कितनी मांगें पूरी हुईं ये जानते सब हैं लेकिन बताएगी सिर्फ जनता। एक ओर तो विपक्ष में काँग्रेस राफेल मुद्दा भुनाने पर तुली रही, जो कि सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है लेकिन काँग्रेस इस मामले में

किलोग्राम, केल्विन, मोल और एंपियर जैसी मापक इकाइयों की दुनिया को मिली नई परिभाषा

Image
दशकों तक प्रयोशालाओं में किए गए गहन वैज्ञानिक प्रयोगों के बाद आाखिर दुनिया के वैज्ञानिकों ने 16 नवंबर 2018 को बीआईपीएम में माप-तौल  पर आयोजित सम्‍मेलन में माप तौल की सात अंतरराष्‍ट्रीय इकाइयों में से चार  –किलोग्राम(भार मापक इकाई) केल्विन (ताप मापक इकाई), मोल (पदार्थ मापक इकाई) और एंपियर (विद्युत मापक इकाई) को विश्‍व स्‍तर पर फिर से परिभाषित करने का ऐतिहासिक फैसला लिया था। यह परिभाषा पूरी दुनिया में विश्व माप विज्ञान दिवस के दिन से लागू हो रही है। विश्‍व माप विज्ञान दिवस हर साल 20 मई को मनाया जाता है। वर्ष 1875 को आज ही के दिन दुनिया के 17 देशों के प्रतिनिधियों ने माप तौल की एक सर्वमान्‍य अंतरराष्‍ट्रीय इकाई प्रणाली तय करने के लिए मीटर कन्‍वेन्‍शन पर हस्‍ताक्षर किए थे। इस सम्‍मेलन ने वैश्विक सहयोग के माध्‍यम से नाप तौल विज्ञान और उसकी औद्योगिक ,वाणिज्यिक और सामाजिक उपयोगिता की रूपरेखा तय करने का मार्ग प्रशस्‍त किया था। हालांकि 20 मई 2019 से लागू नई परिभाषा का आम लोग तो कुछ खास अनुभव नहीं कर पायेंगे या यूं कहें कि आम जन-जीवन में इसके बदलाव में कुछ खास असर नहीं देखा जाएगा पर इसके बदलाव

सिल्चर लोकसभा सीट से जीत के लिये आश्वस्त हैं बीजेपी प्रत्याशी डॉ. राजदीप रॉय

Image
अब जबकि लोकसभा चुनाव के नतीजे आने में काफी कम समय बचा है तो विभिन्न प्रत्याशी जहाँ परिणाम का इंतजार कर रहे हैं, वहीं सिल्चर से बीजेपी प्रत्याशी अपनी जीत को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं। उनके चेहरे पर बिखरी मुस्कुराहट यह जाहिर कर रही है कि उन्हें अपनी जीत का पूरा भरोसा है। एक खास इंटरव्यू में उन्होंने बताया “ मैं अभी बहुत आशावान, आत्मविश्वासी और उम्मीदों से भरा हूँ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमारे देश ने बहुत बदलाव देखा है। पूरे देश की प्रगति और विकास प्रधानमंत्री का मुख्य उद्येश्य है। डॉ. रॉय ने कहा, 'सरकार चलाने का उनका स्पष्ट, दृढ और प्रो-एक्टिव तरीका है, जो नरेन्द्र मोदी को लाखों में एक बनाते है। सिल्चर के लोग और पूरे देश के लोगों को उनमें विश्वास है। विभिन्न योजनाएं और कार्यक्रमों द्वारा देश के लोगों को सीधा फायदा पहोंचाने के उनके लक्ष्य की वजह से आज वो देश के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री है। भारतकी लोकशाही में यह पहली बार है कि जो देश के सबसे गरीब लोगों का हक है वो देश के सबसे गरीब लोगों को ही मिल रहा है।' देशके भूतपूर्व प्रधान मंत्री ने यह बात कही थी कि सरकार

हिंदी साहित्य में छायावादी युग के स्तंभ रहे सुमित्रानंदन पंत

Image
उत्तराखंड स्थित बागेश्वर उन दिनों अल्मोड़ा के नाम से जाना जाता था, जब 20 मई 1900 को सुमित्रानदंन पंत का जन्म हुआ। जन्म के छः घंटे बाद इनकी माँ का प्राणांत हो गया। जिसके बाद इनका लालन-पालन दादी किया। ये गंगादत्त पंत की आठवीं संतान थे। इनका नाम गोसाई दत्त रखा गया। वर्ष 1990 में ये शिक्षा प्राप्त करने गवर्नमेंट हाईस्कूल अल्मोड़ा गए। यहां इन्होंने अपना नाम गासाई दत्त से बदलकर सुमित्रानंदन पंत रखा। 1918 में मंझले भाई के साथ काशी गए और क्वींस कॉलेज में पढ़ने लगे। वहां से हाईस्कूल परीक्षा उत्तीर्ण कर म्योर कॉलेज में पढ़ने के लिए इलाहाबाद गए।  वर्ष 1921 में असहयोग आंदोलन के दौरान महाविद्यालय छोड़ दिया और घर पर ही हिंदी, सस्कृत, बांग्ला और अंग्रेजी भाषा साहित्य का अध्ययन किया।  20 मई को महान कवि सुमित्रा नंदन पंत के जन्म दिवस पर गैर सरकारी संस्था दर्शन मेला म्यूजियम डेवलपमेंट सोसायटी की प्रमुख उपलब्धि 'पाठक मंच' के साप्ताहिक कार्यक्रम 'इन्द्रधनुष' की 666वीं कड़ी में बताया गया कि ”सुमित्रानंदन पंत हिंदी साहित्य में छायावादी युग के प्रमुख स्तंभों में एक हैं। इस युग को जयशंकर प्रसाद, मह

सफाई की राह पकड़ी तो पगला झाड़ू वाला के नाम से हुए मशहूर

Image
साल 2014 में केन्द्र में मोदी सरकार बनने के बाद जब 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी के जन्म दिवस को स्वच्छता दिवस के रूप में घोषित किया गया तो हर तरफ नेताओं द्वारा इसका खूब प्रचार प्रसार किया गया। सबके हाथ में झाड़ू थे, जो लोगों को अपना आस-पास साफ रखने की नसीहत दे रहे थे। इसकी शुरूआत सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की। और फिर क्या था, हर स्तर पर यह अभियान प्रचारित हो चला था। निगमों में अपना क्षेत्र सबसे साफ-सुथरा दिखाने की होड़ लगने लगी। नियमित रूप से कूड़े उठाने वाली गाड़ियाँ गलियों में घूमने लगी तो जगह-जगह शौचालय बनने लगे। गंदगी काफी हद तक दूर होने लगी, क्योंकि लोगों की मानसिकता बदल रही थी। यह एक बड़ा अभियान था, जिसके प्रचार के लिये बड़ी रकम भी लगाई गई, इसलिये इसका व्यापक असर रहा। मगर कहते हैं न कि अच्छी सोच कभी भी कहीं भी और किसी के जेहन में पैदा हो सकती है। देशव्यापी स्वच्छता अभियान का संकल्प भले ही 2014 में नव निर्वाचित प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लिया हो, लेकिन इस कार्य को करने का अलख एक दिल में पहले ही जल रहा था। न उसके पास संसाधन थे और न ही लोगों का साथ, मगर लोगों की गंदगी

गर्मी से हो रहे बेहाल, तो क्यूँ न घूमें - झीलों का शहर नैनीताल ?

Image
गर्मी के शुरू होते ही हमारे देश में खासकर शहरी वर्ग के लोगों में गर्मी के दिनों में किसी ठंडे जगह पर जाकर घूमने-फिरने की प्रवृति दिनों दिन बढ़ती जा रही है। उसके दो प्रमुख कारण है एक तो कुछ दिनों के लिये गर्मी से निजात मिल जाती है तथा दूसरा इस समय बच्चों के स्कूल में भी लंबी छुट्टी रहती है, जिसके कारण पर्यटक प्रकृति का आनंद उठाने के लिए ठंडे जगहों पर जाना पसंद करते हैं।   वैसे तो हमारे देश में बहुत सी ऐसी जगह है जहां पर गर्मी के दिनों में घूमने के लिए जाया जा सकता है, लेकिन यहां हम झीलो व तालों के शहर नैनीताल की चर्चा करने जा रहे हैं जिसके बारे में पढ़कर आपका भी मन एक बार अवश्य इस जगह घूमने के लिए लालायित हो जाएगा। नैनीताल एक संक्षिप्त परिचय नैनीताल भारत के उत्तराखंड राज्य का एक प्रमुख पर्यटन नगर है। यह नैनीताल जिले का मुख्यालय भी है। उत्तराखंड को भौगोलिक दृष्टिकोण से दो भागों में बांटा जा सकता है- एक कुमाऊं, दूसरा गढ़वाल। नैनीताल कुमाऊं क्षेत्र में पड़ता है, जहां इस जिले का विशेष महत्व है। देश के प्रमुख क्षेत्रों में नैनीताल की गणना होती है। यह छखाता परगने में आता है। छखाता नाम शष्

अक्षय तृतीया-शुभ दिवस

Image
आखा तीज यानि अक्षय तृतीया, वैशाख महीने में शुक्ल पक्ष की तृतिया को कहते हैं। कहते हैं इस दिन जो भी कार्य किया जाए उसका अच्छा फल मिलता है।  धार्मिक ग्रंथों के अनुसार इस दिन जो भी शुभ कार्य किये जाते हैं, उनका अक्षय फल मिलता है, इसलिये इसे अक्षय तृतिया कहते हैं। ऐसा कहा जाता है कि  भगवान विष्णु नर-नारायण, हयग्रीव और परशुराम जी का अवतरण भी इसी तिथि को हुआ था। ब्रह्माजी के पुत्र अक्षय कुमार का आविर्भाव भी इसी दिन हुआ था। इस दिन श्री बद्रीनाथ जी की प्रतिमा स्थापित कर पूजा की जाती है और श्री लक्ष्मी नारायण के दर्शन किए जाते हैं। प्रसिद्ध तीर्थ स्थल बद्रीनारायण के कपाट भी इसी तिथि से ही पुनः खुलते हैं। वृंदावन स्थित श्री बांके बिहारी जी मन्दिर में भी केवल इसी दिन श्री विग्रह के चरण दर्शन होते हैं, इस दिन ही महाभारत का युद्ध समाप्त हुआ था। अक्षय तृतिया को किसी भी कार्य के लिये विशेष मुहुर्त के रूप में देखा जाता है, जैसे  विवाह, गृह-प्रवेश, वस्त्र-आभूषणों की खरीददारी या घर, जमीन, गाड़ी आदि की खरीददारी से संबंधित कार्य किए जा सकते हैं। नये कपड़े, आभूषण आदि धारण करने और नई संस्था, समाज आदि की स्थ