क्रिकेट विश्वकप 2019 का कौन होगा विजेता ?


30 मई से शुरू हो रहे क्रिकेट के महाकुम्भ में दस टीमें भाग ले रही हैं, और इन दसों टीम के सर पर वर्ल्ड चैंपियन बनने का दवाब रहेगा। यह वर्ल्ड कप इंग्लैंड और वेल्स में खेला जाएगा। इस बार इस टूर्नामेंट का समीकरण बदला गया है। इस बार एक टीम हर टीम के साथ खेलेगी। यह चीज़ इस वर्ल्डकप को और भी ख़ास बनाती है। आईये देखते हैं उन टीमों की ताक़त और कमज़ोरी जो हमारे हिसाब से सेमीफइनल खेलेगी और यह भी देखते हैं की अनुमानित रूप से कौन सी टीम ग्रुप स्टेज में कौन सी पोजीशन पर रहेगी।  


1) इंडिया



ताक़त - भारत की टीम में हर डिपार्टमेंट में खिलाडी अच्छा कर रहे हैं। भारत के पास वर्ल्डकप जीतने के लिए एक सर्वगुण संपन्न टीम है। भारत के पास धोनी, कोहली, धवन और रोहित जैसे अनुभवी खिलाडी हैं तो पंड्या, कुलदीप, बुमराह जैसे युवा मैच विनर्स भी हैं। 


कमज़ोरी - भारतीय टीम का हर सदस्य अभी - अभी आईपीएल खेलकर आया है, जहाँ पर एकदम सपाट पिचें थी और अचानक से उन्हें स्विंगिंग कंडीशंस में खेलना पड़ेगा। कुलदीप यादव का फॉर्म भारत के लिए एक परेशानी है। 


अनुमानित पोजीशन - 1 या 2 


2) इंग्लैंड



ताक़त - वर्ल्डकप इंग्लैंड में ही होगा तो उनसे अच्छा कंडीशंस के बारे में कोई नहीं जानेगा। इंग्लैंड के पास एक विस्फोटक बैटिंग लाइनअप है जो पिछले एक साल में ऐसे खेल रही है की कोहली ने तो यह कह दिया कि इंग्लैंड वर्ल्ड कप में 500 रन भी बना सकती है। 


कमज़ोरी - इंग्लैंड की बोलिंग लाइनअप इतनी खतरनाक नहीं लग रही है जितना वह पिछले कुछ सालों में लगती थी।


अनुमानित पोजीशन - 1 या 2


3) ऑस्ट्रेलिया


 


ताक़त - ऑस्ट्रेलिया ने हाल ही में कुछ अच्छा प्रदर्शन किया है और स्मिथ और वार्नर की वापसी से टीम की बल्लेबाज़ी में और भी निखार आ गया है। एशिया में जाकर भारत और पाकिस्तान से सीरीज जीतना बहुत बड़ी उपलब्धि है। 


कमज़ोरी - पिछले कुछ सालों में इंग्लैंड में ऑस्ट्रेलिआ का प्रदर्शन बहुत ही निराशाजनक रहा है।


अनुमानित पोजीशन - 3 या 4


4) साउथ अफ्रीका



ताक़त - साउथ अफ्रीका की टीम को देखा जाए तो इस टीम में हर किस्म का खिलाडी है। इनकी गेंदबाज़ी बहुत ही घातक है। हाल ही खत्म हुए आईपीएल में अफ्रीकी गेंदबाज़ों ने केहर ढाया था।


कमज़ोरी - ए बी डी वेलियर्स के सन्यास लेने के बाद मिडिल आर्डर थोड़ा सा कमज़ोर दिख रहा है।


अनुमानित पोजीशन - 3 या 4


Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

झारखंड हमेशा से वीरों और शहीदों की भूमि रही है- हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री झारखंड

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।