समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

 मीमांसा डेस्क


दिल्ली में रविवार दिनांक 12 दिसम्बर 2021 को भूमिहार महिला समाज द्वारा एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें दिल्ली, एनसीआर एवं पटना से बड़ी संख्या में महिलाओं ने शिरकत की।

समारोह की शुरुआत डा वंदना ने की और भूमिहार ब्राह्मण के गौरवशाली इतिहास से सबका परिचय करवाया गया। इसमें शामिल ज्योतिषाचार्य कृष्णा ने कहा कि सृष्टि में कुछ भी अकारण नहीं होता। समृद्ध और सुसंस्कृत तो हम पहले से ही हैं। अब हमें संगठित होने की जरूरत है।


कार्यक्रम में भूमिहार ब्राह्मण महिला समाज के विजन मिशन को बताते हुए सचिव प्रीति प्रिया ने कहा कि समाज में जब भी किसी को किसी भी प्रकार की ज़रूरत होगी यह समाज उसकी मदद में सिर्फ़ खड़ा ही नहीं होगा बल्कि उसके उत्थान के लिये भी अपनी ओर से हर संभव मदद करेगा। इसी तरह सुश्री कल्पना ने कहा कि हमारा संगठन ही हमारी शक्ति है। कार्यक्रम में शामिल कई विभूतियों ने भी भूमिहार ब्राह्मण समाज के पुनरूत्थान में महिलाओं की सकारात्मक भूमिका पर अपनी बात कही।

सबने इस बात पर सहमति जताई कि बच्चों की शादी विवाह हेतु समय की मांग है कि अपने जड़ से जुड़ कर रहा जाए। कार्यक्रम की सफलता पर धन्यवाद देते हुए सुश्री शिवानी ने कहा कि यह तो आगाज है, सबके साथ यह अपने अंजाम पर भी पहुंचेगा।

Popular posts from this blog

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा जिला में नये डीसी ने पद संभालते हुए कहा-जिले के सभी लोगों को सशक्त करना मेरी प्राथमिकता