खेतों में मिनी ट्रैक्टर चला रहीं हैं महिला कृषक।

चिन्मय दत्ता, रांची

अब झारखण्ड की महिलाएं भी खेतों में ट्रैक्टर चलाती नजर आ रहीं हैं। महिला समूहों की कृषि क्षेत्रों में भागीदारी बढ़ाने के लिए राज्य सरकार ने नई पहल की है, जिसके तहत महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों के बीच मिनी ट्रैक्टर और पावर ट्रेलर के वितरण की शुरूआत हुई है। सरकार की ओर से वर्ष 2020-21 के लिए राज्य के 24 जिलों में कुल 380 मिनी ट्रैक्टर और 94 पावर ट्रेलर वितरण के लिए स्वीकृत हैं। अभी तक सात जिलों में 57 मिनी ट्रैक्टर और पावर ट्रेलर वितरित किए जा चुके हैं। धनबाद 04, गिरिडीह 06, गुमला 16 खूंटी 04, लोहरदगा 10, रामगढ़ 08, रांची 09 मिनी ट्रैक्टर का वितरण किया जा चुका है।

राज्य के
24 जिलों में कुल 380 मिनी ट्रैक्टर और ट्रैक्टर और 94 पावर ट्रेलर वितरण के लिए स्वीकृत हैं। अभी तक सात जिलों में तक सात जिलों में 57 मिनी ट्रैक्टर और पावर ट्रेलर वितरित किए जा चुके हैं। धनबाद जा चुके हैं। धनबाद 04, गिरिडीह 06, गुमला 16 खूंटी 04, लोहरदगा 10, रामगढ़ 08, रांची 09 मिनी ट्रैक्टर का वितरण किया जा चुका है।
ट्रैक्टर का वितरण किया जा चुका है। सरकार का यह कदम महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना तो
है ही साथ ही साथ यह कदम कृषि क्षेत्र में क्रांतिकारी कदम साबित हो रहा है। महिला समूहों के बीच मिनी ट्रैक्टर के अलावा पावर ट्रेलर भी वितरित किया गया है। खास बात यह है कि महिलाओं को मिनी ट्रैक्टर और पावर ट्रेलर चलाने का प्रशिक्षण भी दिया गया है।

सरकार इन कृषि यंत्रों पर 90 प्रतिशत अनुदान दे रही है।
10 प्रतिशत की राशि स्वयं सहायता समूहों को वहन करना होगा। समूहों को वहन करना होगा। सरकार जल्दी ही लक्ष्य के अनुरूप बाकी कृषि यंत्रों
का भी वितरण करेगी। इससे झारखण्ड के अन्नदाताओं और कृषि को फायदा होगा।
राज्य सरकार कृषि से संबंधित विभिन्न योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। इसके तहत कृषि यांत्रिकीकरण प्रोत्साहन योजना पर भी जोर दिया जा रहा है

Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा जिला में नये डीसी ने पद संभालते हुए कहा-जिले के सभी लोगों को सशक्त करना मेरी प्राथमिकता