पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा जिला में नये डीसी ने पद संभालते हुए कहा-जिले के सभी लोगों को सशक्त करना मेरी प्राथमिकता

 

चिन्मय दत्ता,

पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा जिला के नये जिला दंडाधिकारी सह जिला उपायुक्त अनन्य मित्तल ने पद संभालते हुए कहा है कि मेरी प्राथमिकताएं वही रहेंगी जो सरकार की है। नये डीसी ने कहा कि मेरा प्रयास होगा कि जिले के सभी लोगों को सशक्त कर सके और लाइवलीहुड के मामले में जिले को और आगे ले जाएं एवं पूर्व के वरीय पदाधिकारियों के द्वारा जो यहां कार्य किया गया है उसे भी गति प्रदान किया जाए।

उन्होंने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि जैसा हम देख रहे हैं कि वायरस संक्रमण का दूसरा लहर आया हुआ है ऐसे में घर से बाहर निकलने के दौरान अपना मास्क पहनकर चलें, समय-समय पर हाथों को साफ करें एवं सेनेटाइजर का प्रयोग करें।
झारखंड सरकार ने आइएएस ऑफिसर अनन्य मित्तल को पश्चिमी सिंहभूम का नया डीसी बनाया है, वहीं निवर्तमान डीसी अरवा राजकमल को  सरायकेला-खरसावां जिले का डीसी बनाया गया है।
अपनी पहली ही कोशिश में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में 85वां रैंक हासिल करने वाले अनन्य मित्तल 2015 बैच के आइएएस अधिकारी हैं।
दिल्ली के चांदनी चौक के सर्राफा कारोबारी शिवकुमार मित्तल के पुत्र अनन्य मित्तल ने दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से 2013 में मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। इंजीनियरिंग के आखिरी साल से ही आइएएस परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी। एक साल की कठिन मेहनत व तैयारी के बाद उन्होंने वर्ष  2014 के सितंबर महीने में यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा दी थी।  इसके बाद दिसंबर में मुख्य परीक्षा दी। उन्होंने मुख्य विषय के रूप में भूगोल चुना था जो उनके आइएएस बनने में बेहद उपयोगी साबित हुआ।
 अनन्य मित्तल अपनी सफलता का श्रेय अपने पिता शिवकुमार मित्तल व माता अल्पना मित्तल को देते हैं। 

x

Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

झारखंड हमेशा से वीरों और शहीदों की भूमि रही है- हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री झारखंड

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।