श्री अभ्युदय उत्सव में डॉ. नड्डा ने कहा- मैं महिलाओं के उत्थान के लिए संकल्पित

डॉ. समरेंद्र पाठक,

वरिष्ठ पत्रकार 

नयी दिल्ली,9 मार्च 2021, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जे.पी.नड्डा की धर्मपत्नी डॉ.मल्लिका नड्डा ने कहा है कि " मैं महिलाओं के उत्थान के लिए संकल्पित हूँ।"  8 मार्च को डॉ नड्डा  अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसरपर  आयोजित श्रीअभ्युदय उत्सव में देशभर से हिस्सा ले रहीं महिलाओं को संबोधित कर रही थी। इस मौके पर राष्ट्रीय महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष  ममता शर्मा के अलावा प्रसिद्ध हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा, सांसद रमेश कौशिक, मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री रहे छत्तीसगढ़ से वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा,विफा के संरक्षक बनवारी लाल सोती, संस्थापक-संयोजक सुशील ओझा,राष्ट्रीय अध्यक्ष महावीर प्रसाद शर्मा,काँग्रेस नेता जितेंद्र भारद्वाज एवं राधेश्याम रंगा,कवियित्री मीरा कुमार एवं बिहार संगी बहिना मिथिलानी समूह की प्रमुख लक्ष्मी अरविन्द पाठक आदि मौजूद थीं। 

ब्राह्मणों के सबसे बड़े वैश्विक संगठन विप्र फाउंडेशन की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में डॉ.  नड्डा ने कहा कि वह खुद  महिला हैं,इसलिए उनके विकास के लिए हर संभव प्रयास करेंगी। आयोजन की स्वागताध्यक्ष श्रीमती शर्मा ने बताया कि महिला कुटीर एवं लघु उद्योगों की स्थापना से न केवल आर्थिक समृद्धि का रास्ता खुलेगा,बल्कि  कोरोनाकाल में पड़ी दोहरी मार से उभरने में भी सफलता मिलेगी।

कार्यक्रम की संयोजक चंद्रकांता राजपुरोहित ने बताया कि जन्म से लेकर शादी-विवाह के मंगल गीतों की प्रस्तुति ने तो कार्यक्रम को उत्सव में तब्दील कर दिया। रात्रि में सुप्रसिद् राजस्थानी गायिका सीमा मिश्रा की रंगारंग प्रस्तुति पर तो पंडाल में मौजूद महिला और पुरुष झूम उठे। 

इस कार्यक्रम में महिलाओं के उत्थान के लिए अनेक घोषणाएं की गयी। गरीब परिवार की कन्याओं के विवाह का संकल्प लिया गया। इसमें सफाई कर्मी एवं अन्य समाज की कन्याएं भी शामिल की गयी है। इनके साथ ही बच्चों को शिक्षित एवं संस्कारित करने का संकल्प दोहराया गया। 

इस मौके पर विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत महिलाओं को तेजस्विनी सम्मान से सम्मानित किया गया। सम्मान पाने वालों में नुपूर शर्मा दिल्ली (राजनीति), बांसुरी स्वराज, दिल्ली (लीगल प्रोफेशन), सुरभि मिश्रा, जयपुर (स्पोटर्स), युक्ति भारद्वाज, गुडग़ांव (उद्योग), स्वाति शर्मा, कोलकाता (फाइनेंस), सुधा श्रीमाली, नोएडा (आईटी),शालिनी भारद्वाज,नोएडा (जर्नलिज्म), सुमन जोशी, बांसवाड़ा (कला) तथा अंजलि कौशिक,अहमदाबाद (सोशल सर्विल) का नाम शामिल हैं।

 

Popular posts from this blog

झारखंड हमेशा से वीरों और शहीदों की भूमि रही है- हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री झारखंड

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।