यू.एन.आई.के मामले में संविधान विशेषज्ञ ए.पी.एन. गिरी एन.सी.एल.टी.में पक्षकार बनेंगे।

 सनंत सिंह

नयी दिल्ली,5 मार्च 2021,

देश की पुरानी समाचार एजेंसी यू.एन.आई.के शेयर धारकों ने मौजूदा प्रवंधन के खिलाफ एन.सी.एल.टी.का दरवाजा खटखटाया है,जहां 11 मार्च को सुनवाई होनी है। इस संबंध में संविधान विशेषज्ञ एवं इलाहावाद उच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता ए.पी.एन.गिरी जनहित में समाचार एजेंसी यू.एन.आई.के मामले में एन.सी.एल.टी.में पक्षकार बनेंगे।

सेव यू.एन.आई.मूवमेंट क़ानूनी प्रकोष्ठ के प्रमुख  गिरी ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि वर्षो से यू.एन.आई.पर अवैध ढंग से काविज लोगों के खिलाफ कुछ शेयर धारकों का एन.सी.एल.टी. का दरवाजा खटखटाना सराहनीय है। इसी मामले में वह अदालत के समक्ष देश हित एवं जनहित से जुड़े तथ्यों को रखेंगे।

 गिरी ने कहा कि इस संबंध में उनकी मूवमेंट से जुड़े उच्चतम न्यायालय के जाने माने अधिवक्ता  संतोष कुमार,जितेन्द कुमार झा, राजीव कुमार मिश्र,विनय कुमार झा,केशव चौधरी एवं राम वदन चौधरी आदि से चर्चा हुई। 

संविधान विशेषज्ञों की संस्था जन गन वादी भारत के निदेशक  गिरी ने कहा कि वह यू.एन.आई.में एक दलित कर्मचारी के खिलाफ हुए अत्याचार के मामले में भी पीड़ित के पक्ष से दिल्ली के एक सत्र अदालत में पेश हुए थे और तत्कालीन संपादकीय प्रमुख नीरज वाजपेयी,पत्रकार अशोक उपाध्याय सहित तीन हस्तियों को तिहाड़ जेल जाना पड़ा था।

 

Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

SAHAY के जरिये मिलेगी नक्सल प्रभावित क्षेत्र के युवाओं को नई पहचान।