दीनदयाल उपाध्याय सामुदायिक भवन का सांसद हेमामालिनी ने किया लोकार्पण

                                                                                      

 मनोज त्रिपाठी, मथुरा,

16 फरवरी, मंगलवार को दीनदयाल धाम में दीनदयाल उपाध्याय सामुदायिक भवन का लोकार्पण करते हुए मथुरा सांसद हेमामालिनी ने कहा कि मैंने अपनी सांसद निधि से मथुरा में बहुत से कार्य कराये हैं, मगर जबसे मैं  मथुरा की सांसद बनी हूं तब से मेरे यह मन में था कि पं० दीनदयाल उपाध्याय जी के इस पावन जन्मस्थान पर मेरी तरफ से कोई योगदान होना चाहिए।  हेमा मालिनी ने बताया कि मेरे मन में पं० दीनदयाल उपाध्याय की जन्मस्थली में एक भवन बनाने की भावना थी,  इसलिए अपने एक सहयोगी के माध्यम से पं० दीनदयाल उपाध्याय की जन्मभूमि पर सामुदायिक भवन दीनदयाल उपाध्याय के नाम से बनवाया गया है। 
दीनदयालधाम गांव में आयोजित दीनदयाल उपाध्याय सामुदायिक भवन के लोकार्पण कार्यक्रम में  ग्रामवासियों को संबोधित करते हुए  सांसद ने कहा कि इस भवन के बनने से गांववासी यहां शादी-विवाह, जन्म दिवस एवं अन्य सामाजिक कार्यक्रम कर सकेंगे। सांसद हेमामालिनी ने कहा कि पं० दीनदयाल उपाध्याय ने हमेशा गरीबो,मजदूरों और महिलाओं के विकास के लिए बहुत कुछ करने का सोचा था। उसी के आधार पर हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पंडित दीनदयाल जी के विचारों के आधार पर कार्य करते हुए भारत को विकसित कर रहे हैं।
 इस मौके पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख रामलाल ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि पंडितजी कहते थे कि हमारा देश गांव में बसता है।  गांव में किसान है, मजदूर है, गरीब है।  शहरी क्षेत्रों में भी गरीब लोग रहते हैं। जब तक उन सब तक विकास नही पहुंचेगा, तब तक भारत देश विकसित देश नहीं बनेगा। इसलिए उन्होंने अंत्योदय का सिद्धांत दिया। उन्होंने बताया कि समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति का उदय होना चाहिए।

 


Popular posts from this blog

झारखंड हमेशा से वीरों और शहीदों की भूमि रही है- हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री झारखंड

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।