बॉडी बनाने में जिम से ज्यादा मेहनत किचन में होती है-फिटनेस एथलीट अभिषेक झा

यह जरूरी नहीं है कि जो भी जिम जाता है, या फिर एक्सरसाइज करता है उसके 6 पैक एब्स हों। दरअसल फिट रहना सबके लिये जरूरी है। अगर आप स्वस्थ रहते हैं तो सकारात्मक भी रहते हैं। कोई भी फिजिकल एक्टिविटी जरूर करें, और अपने डाइट पर ध्यान दें।


डाइट का मतलब मसाला कम खाना, उबला हुआ खाना myth है। जबकि शरीर के लिये कैलोरी maintain करना पड़ता है। फिटनेस मॉडल व ट्रेनर अभिषेक बताते हैं कि डाइट को डिजाइन करना पड़ता है। घर पर बना खाना अच्छा है। तेल मसाला खाना भी जरूरी है।


https://vikalpmimansa.page/article/koee-raaton-raat-staar-nahin-banata-lakshy-ke-liye-hotee-hai-kadee-mehanat-abhishek-jha-phitanes-mod/m7EN8T.html


कई लोग अलग से supplement जैसे प्रोटीन आदि का प्रयोग करते हैं, जबकि उससे अधिक फायदेमंद उन पदार्थों को खाना है, जिसमें प्रोटीन, दूसरे मिनरल्स व आयरन हों। दरअसल, बॉडी बनाने में जिम की नहीं बल्कि किचन में  की गई मेहनत होती है। शरीर बनाने के लिये Asteroid, Tablet  खाना बहुत नुकसान देने वाला होता है, इससे बचना चाहिये।  


Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा जिला में नये डीसी ने पद संभालते हुए कहा-जिले के सभी लोगों को सशक्त करना मेरी प्राथमिकता