फैशन की दुनिया की मशहूर हस्ती सुनील सेठी देंगे अब खादी के कपड़ों के डिजाइन के लिये सलाह

स्वदेशी अपनाने की बात हो तब अपने आप ही खादी का ख्याल हमारे दिमाग में आ ही जाता है। यह हमारी आन-बान और शान है। लेकिन आधुनिक व बदलते फैशन के इस दौर में खादी कहीं पीछे न छूट जाए इसके लिये केवीआईसी यानि खादी और ग्रामोद्योग ने हमेशा कुछ नया करने का प्रयास किया है।


इसी परिपेक्ष्य में खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने भारतीय फैशन उद्योग की जानी मानी हस्ती सुनील सेठी को अपना सलाहकार नियुक्त किया है। सेठी भारत और विदेशों में खादी के प्रचार के साथ-साथ तैयार कपड़ों के क्षेत्र में नवीनतम डिजाइनों के बारे में आयोग को सलाह देंगे।


केवीआईसी के अनुसार सेठी की नियुक्ति एक वर्ष की अवधि के लिए की गई है। इससे पहले, प्रसिद्ध फैशन डिजाइनर रितु बेरी केवीआईसी के सलाहकार के रूप में कार्य कर चुकी हैं। हाल ही में उनका कार्यकाल समाप्त हुआ है। 


गौरतलब है कि  सुनील सेठी के पास विश्व स्तर पर व्यापार करने का चार दशकों का लंबा अनुभव है, जहां उन्होंने कई नवीन और सफल रहे पहलों के माध्यम से भारतीय हस्तशिल्प, डिजाइन और वस्त्र उद्योग के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। चार सौ डिजाइनरों के प्रतिनिधित्व वाले फैशन डिज़ाइन काउंसिल ऑफ़ इंडिया के अध्यक्ष के रूप में सुनील सेठी भारतीय फैशन उद्योग को वैश्विक स्तर पर ले जाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं।


सेठी एचएचईसी, राष्ट्रीय शिल्प संग्रहालय, हस्तकला अकादमी, कपड़ा मंत्रालय, पर्यटन मंत्रालय और संस्कृति मंत्रालय जैसे विभिन्न सरकारी निकायों में भी पहले सलाहकार रह चुके हैं। वह नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (निफ्ट) के शासक मंडल के सदस्य के रूप में भी कार्य कर चुके हैं।


 इस बारे में केवीआईसी के अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना ने कहा  सुनील सेठी की नियुक्ति के पीछे स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैशन उद्योग में खादी का प्रसार करना है। केवीआईसी ने पहले ही वैश्विक मंच पर अपनी मौजूदगी दर्ज करा ली है और यहां से आगे हमें हर अवसर को भुनाना चाहिए। 


 


Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

दिल्ली के लिये हरियाणा से पानी की कमी को लेकर आप नेताओं ने किया, दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के घर का घेराव।