मिथिलांचल में मैथिली भाषा  में पठन-पाठन सुनिश्चित करने की मांग

मिथिला लोकतांत्रिक मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज झा ने मिथिलांचल में मातृभाषा मैथिली में पठन-पाठन सुनिश्चित करने की मांग की है।
 
मनोज झा ने शिक्षा नीति 2020 के तहत केन्द्र सरकार द्वारा देशभर में प्राथमिक शिक्षा का माध्यम मातृभाषा में कराने की घोषणा का स्वागत करते हुए कहा है, कि इस घोषणा से जहां मातृभाषा को सम्मान मिला है,वहीं इसके माध्यम से प्राथमिक विद्यालयों में पढाई प्रारंभ किये जाने का मार्ग भी प्रशस्त हुआ है।


इस मांग को लेकर पटना में दस दिनों तक अनशनरत रहे झा ने कहा कि उस समय सरकार ने हमारी मांग को मान लिया था,लेकिन बाद में इससे पलट गयी।


उन्होंने मिथिला क्षेत्र में संचालित केन्द्रीय विद्यालय,नवोदय विद्यालय और केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से सम्बद्ध सभी विद्यालयों में मैथिली की पढ़ाई शीघ्र चालू करने की मांग की है।


Popular posts from this blog

झारखंड हमेशा से वीरों और शहीदों की भूमि रही है- हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री झारखंड

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।