बिना राशन कार्ड के आवेदकों को पोटका विधायक ने बांटा 1 रूपया प्रति किलो चावल

देश में बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए अभी 21 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है, जिससे सबसे अधिक प्रभाव रोज कमाकर खाने वालों और गरीबों पर पड़ रहा है। इस से निपटने के लिये केन्द्र और राज्य सरकारों की ओर से इन्हें खाद्य आपूर्ति की जा रही है।


लॉकडाउन के दौरान किसी को भूखा नहीं रहना पड़े इस दिशा में झारखंड सरकार द्वारा राशन कार्ड से वंचित ऑनलाईन आवेदन करने वाले योग्य लोगों को 1 रूपया प्रति किलो चावल देना शुरू किया है। इसकी शुरूआत 4 मार्च को पोटका के विधायक संजीव सरदार ने पोटका पंचायत क्षेत्र से की। इस लाभ के योग्य प्रति व्यक्ति को 10 किलो चावल दिया जा रहा है।


इस बारे में विधायक संजीव सरदार ने बताया कि पोटका प्रखंड में 2733 ऐसे लोगों ने आवेदन किया है, जिनके राशन कार्ड नहीं हैं। 4 अप्रैल, शनिवार को ऐसे 133 लोगों को 1 रूपये की दर से 10-10 किलो चावल दिये गये। इसी तरह अब सभी पंचायत में इसका वितरण मुखिया और पंचायत सचिव की देख-रेख में किया जाएगा


Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा जिला में नये डीसी ने पद संभालते हुए कहा-जिले के सभी लोगों को सशक्त करना मेरी प्राथमिकता