अपनी पेंशन की राशि से जरूरतमंदों के बीच मदद पहंचा रहे हैं, मुखिया दुर्गा हाईबुरू

झारखंड आंदोलनकारी रहे गम्हरिया प्रखंड स्थित दुगनी ग्राम पंचायत के मुखिया दुर्गा हाईबुरू अपने क्षेत्र में मुखिया और संवेदनशील इंसान दोनों की भूमिका निभाते नजर आ रहे हैं।। कोरोना वायरस के चलते हुए देश भर के लॉकडाउन में लाचारी और गरीबी का जीवन व्यतीत कर रहे क्षेत्र के वृद्धों एवं दिव्यांगों के बीच मुखिया ने अपनी पेंशन राशि से 5 किलो चावल, गमछा और डिटॉल साबुन का वितरण किया।


गौरतलब है कि मुखिया दुर्गा हाईबुरू को झारखंड आंदोलनकारी के नाम पर 3000 रूपये की राशि पेंशन के तौर पर मिलती है, जिसे वह इन दिनों जरूरतमंद लोगों के बीच खर्च कर रहे है। गांव-गांव जाकर लोगों की तकलीफ सुनकर लोगों की यथासंभव मदद करना अभी दुर्गा हाईबुरू के दैनिक जीवन में शामिल हो गया है।


इस वक्त जब देश में हर व्यक्ति कोरोना वायरस से लड़ने के लिये अपने-अपने घरों से संघर्ष कर रहा है तो समाज में उन्हें सुरक्षित रखने और उन तक सारी सुविधा पहुंचाने के लिये कोरोना योद्धा के रूप में सरकार, प्रशासन, डॉक्टर, पुलिस, सफाईकर्मी हर संभव प्रयास में जुटे हैं। सामाजिक कार्य में लगे लोग भी आगे बढ़कर लोगों के लिये खाने-पीने की व्यवस्था कर रहे हैं। यूं कहें कि मुश्किल की इस घड़ी में जिसकी जितनी भी क्षमता है, सामाजिक जिम्मेदारी समझते हुए दूर रहकर लोग मदद का हाथ आगे बढ़ा रहे हैं। मुखिया दुर्गा हाईबुरू भी उन्हीं में से एक हैं।


Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

दिल्ली के लिये हरियाणा से पानी की कमी को लेकर आप नेताओं ने किया, दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के घर का घेराव।