आप अपने जीवन में कई गलतियां कर सकते हैं, किंतु यह सुनिश्चित करें कि ऐसा कुछ न खाएं जो गलत हो-सुनील शेट्टी


मादक पदार्थों के खतरों के बारे में किशोरों को शिक्षित करने के लिए  गुवाहाटी में आयोजित एक कार्यशाला में अभिनेता सुनील शेट्टी ने एक बच्चे के जीवन में खेलों के महत्व पर जोर देते हुए अपनी सफलता के सफर को साझा किया।  सुनील शेट्टी राष्ट्रीय एंटी-डोपिंग एजेंसी के ब्रांड एम्बेसडर हैं। सुनील शेट्टी ने कहा, “आप अपने जीवन में कई गलतियां कर सकते हैं, किंतु यह सुनिश्चित करें कि ऐसा कुछ न खाएं जो गलत हो। मैंने अपने जीवन में जो उपलब्धियां प्राप्त की हैं, वे पूर्णतः खेलों के कारण हैं।” उन्होंने कहा, “मैं मार्शल आर्ट्स का अभ्यास करता था और वास्तव में कठिन प्रशिक्षण लेता था। मैं अपने जीवन में एक अभिनेता केवल इसलिए बन पाया, क्योंकि मैं एक एथलीट था। मैं अभी भी मानता हूं कि मैं खेलों का एक हिस्सा हूं।”


खेलो इंडिया युवा खेल की सफलता पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए,  शेट्टी ने कहा, “यह बात कल्पना से परे है कि इतने अधिक किशोरों को यह महसूस करने का अवसर मिल रहा है कि वे कल के सितारे हैं।” उन्होंने कहा कि किशोरों को प्रोत्साहित करने की जरूरत है और वे इस बात से अवगत हों कि उन्हें देश का प्रतिनिधित्व करना है।  


गौरतलब है कि युवा मामले एवं खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  किरेन रिजीजू और अभिनेता  सुनील शेट्टी ने खेलो इंडिया के एथलीटों से किसी प्रतिबंधित पदार्थों से परहेज करने की मांग करते हुए एक स्वच्छ तथा नशा-मुक्त खेल संस्कृति का आह्वान किया है। रिजीजू ने सभी एथलीटों को आश्वस्त किया कि जब तक वे प्रतिबंधित पदार्थों से खुद को अलग रखेंगे, उन्हें पूरी सहायता दी जाएगी। खेल राज्य मंत्री ने आगे कहा कि मैं सभी प्रशिक्षकों एवं माता-पिता को कहना चाहूंगा कि वे यह सुनिश्चित करें कि सभी एथलीट प्रतिबंधित मादक पदार्थों से परहेज करें। सभी एथलीटों को स्वच्छ रहना चाहिए और चैम्पियन बनना चाहिए। हम सभी एथलीटों की सहायता के लिए उपलब्ध हैं।”


Popular posts from this blog

झारखंड हमेशा से वीरों और शहीदों की भूमि रही है- हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री झारखंड

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।