हरियाणवी म्युजिक का टशन लेकर एक बार फिर आ रहे म्युजिक स्टार तनु खरखोदा


हरियाणवी म्युजिक सेंसेशन के रूप में अपनी पहचान बनाने वाले म्युजिक स्टार तनु खरखोदा अपने नये म्युजिक एलबम के साथ एक बार फिर हरियाणवी दिलों पर राज करने आ रहे हैं। इसी महीने तनु की धमाकेदार म्युजिक आने वाली है, जिसका नाम है काला सूट। हरियाणवी म्युजिक फिल्ड में तनु एक जाना पहचाना नाम है, और सभी उनके गाने के दीवाने हैं। हरियाणा की मिट्टी से ताल्लुख रखने वाले तनु खरखोदा ने हरियाणवी गायिकी में अपनी खासी पैठ बना ली है।



तनु ने मशहूर हरियाणवी कलाकार सपना चौधरी के साथ भी कुछ प्रोजेक्ट्स जैसे- काला डोरा, ज़ीरो फिगर, चॉकलेट, गैंग्स्टर, धूमा, आदि किये है। इनमें विशेष रूप से काला डोरा को बहुत लोगों का प्यार मिला।


https://www.youtube.com/watch?v=p1caKKoDLZ8


हरियाणवी म्युजिक से साथ तनु ने हिंदी बॉलीवुड म्युजिक में भी काम किया। जिसका टायटल है- तेरे बिना जिया जाए ना। यह गाना भी लोगों को काफी अच्छा आया। तनु आज हरियाणवी एवं हिंदी म्युजिक में अपनी खास पहचान बना चुके हैं, लेकिन म्युजिक की दुनियां से तनु की पहचान 13 साल की उम्र में हुई।



इस बारे में तनु बताते हैं कि- शुरूआत में मैंने पंडित श्री बृजमोहन जी से हारमोनियम पर म्युजिक सीखा। संगीत से लगाव होने के कारण मैंने कम ही समय में बहुत कुछ सीख लिया। इसी दौरान मैं पढ़ाई के लिये रोहतक चला गया। जिसके चलते कुछ समय के लिये म्युजिक से दूर रहा।


साल 20-13 में मेरी पढ़ाई पूरी हुई। 2013 में ही मेरा पहला म्युजिक ऑडियो आया, जिसका नाम था-छोरी कसूटी। इसके साथ ही मैंने कई और गाने गाये। लोगों के मेरे गाने पसंद आने लगे। शुरू से ही जागरण, चौकी, कीर्तन और भजन गाने में रूचि होने के कारण लोग मुझे जानने भी लगे थे। यही वजह थी कि एक बार म्युजिक में कदम आगे बढ़े तो फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा।


 तनु अपने म्युजिक सफऱ के बारे में आगे कहते हैं कि, "जिस वक्त हरियाणा में अच्छे विडियो नहीं होते थे, मैंने रिस्क लेकर अच्छे बजट से एक अच्छा गाना बनाया, जो 17 दिसंबर 2014 को सोनोटेक से रिलीज हुआ। सभी ने उसे पसंद किया। जब यूट्यूब का दौर शुरू ही हुआ था, तबसे सोनोटेक में काफी गाने किये। उसी समय कुछ सोशल प्रोजेक्ट भी मिले जैसे-गौ माता, सेव गर्ल ओर देशभक्ति गाने के साथ दुनियां भर में स्टेज शो भी किये, जिसके लिये इंडियन अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित भी किया गया। साथ ही ड्रीम जाट,काली थार, एच आर10 जैसे सांग्स मिले। टी सीरीज से काली थार सांग को कई लोगों ने देखा और सुना, जिसमें मेरे साथ अमित लिवासपुर, टिकटॉक स्टार माही लाखड़ा जैसे कलाकारों ने काम किया है। कुछ नये प्रोजेक्ट्स भी तैयार हैं जो टी सीरीज जैसी बड़ी कंपनी से आएंगे।"


Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा जिला में नये डीसी ने पद संभालते हुए कहा-जिले के सभी लोगों को सशक्त करना मेरी प्राथमिकता