"घर एक मंदिर" धारावाहिक ने राम कपूर को घर-घर बनाया लोकप्रिय


     भारतीय टेलीविजन के प्रसिद्ध अभिनेता राम कपूर ने नई दिल्ली के एक सम्पन्न पंजाबी खत्री परिवार में 1 सितंबर 1973 को जन्म हुआ। इनके पिता अनिल कपूर प्रसिद्ध विज्ञापन एवं विपणन अधिकारी एवं माता रीता कपूर गृहणी हैं। इनके जन्म के बाद इनका परिवार मुंबई आ गए।


यहीं ये बड़े हुए। इनकी मां इनकी सबसे बड़ी समर्थक थी। कहते हैं, ग्लैमर की दुनियां में आसानी से जगह नहीं मिलती। रामकपूर को भी संघर्ष के दिन देखने पड़े। अपनी जीविका के लिए राम कपूर ने गाड़ियां, क्रेडिट कार्ड, केबल सदस्यता बेचने का काम और स्टार बॉक्स में भी काम किया।   


      वर्ष 2000 इनके लिए सिर्फ व्यस्त वर्ष ही नहीं एक सफल वर्ष भी था। ये वो साल भी था जब इन्होंने बालाजी टेलीफिल्मस् के साथ धारावाहिक घर एक मंदिर बनाई। इस शो ने राम कपूर को घर घर में लोकप्रिय बनाया। ये जी टीवी पर प्रसारित कसम से में जय वालिया के किरदार के लिये और बड़े अच्छे लगते हैं धारावाहिक के लिए खासे मशहूर हैं।


राम कपूर एकमात्र अभिनेता है जिन्होंने इंडियन टेली अवार्ड में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का खिताब लगातार तीन वर्ष 2006, 2007 और 2008 में जीता। इन्होंने पाँच बॉलीवुड फिल्मों में सहायक अभिनेता की भूमिका भी निभाई है। 


     धारावाहिक घर एक मंदिर की में सह कलाकार गौतमी गाडगिल राम कपूर की सबसे अच्छे दोस्त बनी। इस दोस्ती को इस युगल ने 14 फरवरी 2003 में विवाह के बंधन में बांध लिया। इनके दो बच्चे हैं बेटी सिया कपूर जिसका जन्म 12 जून 2006 को हुआ और बेटा अक्श कपूर का जन्म 12 जनवरी 2009 को हुआ।


1 सितंबर को राम कपूर के जन्मदिन के अवसर पर पाठक मंच के साप्ताहिक कार्यक्रम इंद्रधनुष की 681वीं कड़ी में यह जानकारी दी गई।  


     


                      


Popular posts from this blog

झारखंड हमेशा से वीरों और शहीदों की भूमि रही है- हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री झारखंड

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।