क्या आप जानते हैं, क्रिकेट पुरूष विश्व कप से पहले महिला विश्व कप की हुई थी शुरूआत..?


इन दिनों 12वां क्रिकेट विश्व कप का आयोजन चल रहा है, जिसे क्रिकेट प्रेमी बड़े जोश के साथ देख रहे हैं, और विजेता का भी आंकलन कर रहे हैं। लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि इस क्रिकेट विश्व कप का इतिहास क्या है, और सबसे पहले किस टीम से इसकी शुरूआत हुई ? तो आपको यह जानकर बहुत हैरानी होगी कि क्रिकेट के पुरुष विश्व कप से पहले महिला विश्व कप की शुरुआत हो चुकी थी।


पुरूष विश्व कप 44 साल पुराना है तो महिला विश्व की शुरुआत 20 जून, 1973 को ही हो चुकी थी। तब सात टीमों ने महिला विश्व कप में हिस्सा लिया था। भले ही इंग्लैंड की पुरूष टीम कभी चैंपियन न बन पायी हो लेकिन तब मेजबान इंग्लैंड की महिला टीम ऑस्ट्रेलिया की महिला टीम को 92 रनों से हराकर चैंपियन बनी थी। खास बात ये भी है कि इंग्लैंड के एक कारोबारी जैक हेवर्ड ने इस आयोजन के लिए 40 हजार पाउंड डोनेशन के रूप में दिया था।



 महिला विश्व कप के पहले आयोजन के करीब दो साल बाद जून, 1975 में क्रिकेट विश्वकप का आयोजन किया गया। पहली बार यह आयोजन इंग्लैंड में 60 ओवरों के विश्वकप के रूप में हुआ यानी प्रत्येक पारी 60-60 ओवरों की हुई। इस आयोजन के लिए बीमा कंपनी प्रूडेंशियल इंश्योरेंस ने एक लाख पाउंड का चेक आयोजकों को सौंपा। इसलिए पहले क्रिकेट विश्व कप का नाम प्रूडेंशियल विश्व कप भी ऱखा गया। इसके बाद 1983 तक लगातार तीन बार विश्व कप का आयोजन इंग्लैंड में ही हुआ। जिसमें से दो बार वेस्टइंडीज तो 1983 में भारत की टीम चैंपियन बनी।


भारत के चैंपियन बनने के साथ ही क्रिकेट विश्व की मेजबानी भी इंग्लैंड से बाहर निकली और 1987 में मेजबानी का मौका भारत को मिला। उस मौके पर भारत की टीम सेमीफाइनल से आगे नहीं बढ़ सकी। हालांकि मेजबानी का सिस्टम जरूर बदल दिया गया और रोटेशन के आधार पर विश्वकप की मेजबानी दी जाने लगी। अभी तक सबसे अधिक 5 बार विश्व कप जीतने का गौरव ऑस्ट्रेलिया को हासिल है, जबकि भारतीय टीम 1983 में कपिलदेव की कप्तानी में विजेता बनने के बाद अपनी मेजबानी में 2011 में महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी में विश्व विजेता बनी।


यह महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर का अंतिम विश्व कप था। इससे पहले 2007 में सौरभ गांगुली की कप्तानी में टीम इंडिया फाइनल तक पहुंची थी। हालांकि खिताबी मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया से एकतरफा ढंग से हार गयी।  


 


Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

दिल्ली के लिये हरियाणा से पानी की कमी को लेकर आप नेताओं ने किया, दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के घर का घेराव।