खेल जगत से जुड़ी हस्तियाँ भी हुई छत्तीसगढ़ के हैंडलूम और कोसा की दीवानी


नई दिल्ली 5 जुलाई 2019 – छत्तीसगढ़ भवन में लगी छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध बुनकरों द्वारा निर्मित हैंडलूम और हस्तकला प्रदर्शनी  दिल्ली और उसके आसपास के हैंडलूम कला पारखियों के आकर्षण का केन्द्र बन गयी है । छत्तीसगढ़ भवन , 7 सरदार पटेल मार्ग पर लगी इस प्रदर्शनी में छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध रायगढ़ , चांपा और बिलासपुर के बुनकरों के विविष्ट उत्पादों को विक्रय के लिए प्रदर्शित किया गया हैं ।

 सामान्यतः इस प्रकार की प्रदर्शनी और सेल त्यौहार के समय लगती है लेकिन छत्तीसगढ़ सरकार ने पहल करके ऑफ सीजन में भी बुनकरों को अपने उत्पादों को विक्रय करने के लिए एक अवसर प्रदान किया है । बुनकरों ने इसके लिए राज्य सरकार का आभार व्यक्त किया है । 



छत्तीसगढ़ के  बुनकरों  की कारीगरी और उनके द्वारा बनाए वस्त्रों की प्रसिद्धि दिल्ली में काफ़ी  तेजी से फ़ैल रही हे। अब तो खेल जगत से जुड़ी हस्तियाँ भी  नई दिल्ली के छत्तीसगढ़ भवन में लगी प्रदर्शनी में ख़रीदारी करने पहुँच रहे हे। आज रणजी क्रिकेट और हॉकी के प्रसिद्ध खिलाड़ियों ने नई दिल्ली के छत्तीसगढ़ भवन में दस्तक दी और यहाँ लगी छत्तीसगढ़ के बुनकरों की प्रदर्शनी में जमकर खरीददारी की ।

 रणजी ट्रॉफी दिल्ली से खेलने वाले खिलाड़ी चेतन शर्मा को छत्तीसगढ़ का हेंडीक्राफ्ट काफी पसंद आया , पूर्व हॉकी खिलाड़ी सतेंद्र शर्मा ने कोसे का कुर्ता लिया और कहा की वे इसे परिवार में होने वाली शादी में पहनेंगे, इसके अलावा पंजाब से रणजी खिलाडी मयंक सदाना , क्रिकेटर मोहम्मद शरीक सहित अन्य खिलाड़ियों ने भी प्रदर्शनी से कोसे और हैंडीक्राफ्ट का सामान ख़रीदा । 


प्रदर्शनी के अनुभव को “ओलम्पिक पदक” विजेता कर्णम मल्लेश्वरी
ने ट्विटर साझा किया अनुभव , बुनकरों की मेहनत को सराहा




 छत्तीसगढ़ के हैंडलूम और हैंडीक्राफ्ट प्रदर्शनी की जानकारी  “ओलम्पिक पदक जीतने वाली भारत की प्रथम महिला” कर्णम मल्लेश्वरी को लगी तो वह अपने रोक न पाई ओर नई दिल्ली के छत्तीसगढ़ भवन में लगे हस्तशिल्प ओर हथकरघा प्रदर्शनी को देखने पहुँच गई। यहाँ उन्होंने कोसा ओर हैंडलूम  की कई साड़ियाँ ख़रीदी। उन्होंने छत्तीसगढ़ के अलग-अलग जिलो से आए बुनकरों से बात की ओर इस प्रदर्शनी को ओर अधिक दिन के लिए आगे बढ़ाने का आग्रह भी  किया। उन्होंने कहा कि उनके कई मित्र जो खेल जगत से जुड़े हे  वे अभी आ नहीं पाए , उनकी इच्छा है की वे इस प्रदर्शनी में आए। कर्णम मल्लेश्वरी ने छत्तीसगढ़ भवन में लगी प्रदर्शनी के अपने अनुभव को ट्विटर पर भी साझा किया।


एक जुलाई से प्रारंभ हुई यह प्रदर्शनी 10 दिनों तक चलेगी । प्रदर्शनी में छत्तीसगढ़ी साड़ियों , ड्रेस मटेरियल्स , दुपट्टे , जैकेट , शर्ट , कुरते , स्टाल आदि विक्रय के लिए उपलब्ध है । प्रदर्शनी में टेंपल डिजाईन की टसर सिल्क , लिनेन, बाफटा काटन , सिल्क , दुपियोन सिल्क , लिनेन सिल्क , और अन्य कई प्रकार के उत्पाद भी उपलब्घ है । दिल्ली की गर्मी में बाफटा काटन और लिनेन पहनने के लिए आदर्श उत्पाद है ।


 


Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

दिल्ली के लिये हरियाणा से पानी की कमी को लेकर आप नेताओं ने किया, दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के घर का घेराव।