क्या हरी सब्जियों में है भरपूर पोषण ?


हरी सब्जियों में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं, इसलिये डायटीशियन - खाने में नियमित रूप से हरी सब्जियों के सेवन की सलाह देते हैं। इन दिनों गर्मी की शुरूआत होते ही कई तरह की हरी सब्जियाँ बाजार में उपलब्ध होने लगी हैं। इनमें पालक, भिंडी, लौकी, करेला, शलजम, परवल, पुदीना और बींस जैसी कई सब्जी हैं जो किसी न किसी रूप में हमारे स्वास्थ्य के लिये उपयोगी हैं। गौरतलब है कि सब्जियाँ प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है, जिससे शरीर को तो लाभ मिलता ही है, प्रोटीन से बाल भी मजबूत और चमकीले होते हैं। जानते हैं कि किन सब्जियों के प्रयोग से क्या लाभ होते हैं। ऐसे में यहाँ कुछ सब्जियों में पाये जाने वाले गुणों का जिक्र किया जा रहा है, जिससे इसके खाने के फायदे के बारे में आपको जानकारी मिल सकेगी।


मटर


- हरी फलियों और हरी मटर की पैदावार सर्दियों में सबसे ज्यादा होती है। हरी मटर, पौष्टिक तत्वों से भरपूर होती है। आजकल कई डायटीशियन भी फूड-चार्ट में हरी मटर को शामिल करने की सलाह देते हैं। हरी मटर में ऐसे स्वास्थ्यवर्धक गुण होते हैं, जो शरीर में कॉलेस्ट्रॉल बढ़ने नहीं देते। हरी मटर में शरीर में ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को कम करने का गुण होता है और इसके सेवन से ब्लड में कॉलेस्ट्रॉल संतुलित होता है। इसके सेवन से हार्ट की बीमारियाँ कम होती है। इसमें एंटी इन्फ्लामेट्री कम्पाउंड होते हैंऔर एंटी ऑक्सीडेंट भी भरपूर मात्रा में होता है। इन दोनों ही कम्पाउंड के कॉम्बीनेशन से दिल की बीमारियाँ होने का खतरा कम हो जाता है। हरी सब्जियों के सेवन से शरीर में दिन भर ताजगी बनी रहती है और शरीर में ताजगी बनी रहेगी, तो आप सुन्दर और ऊर्जा से भरपूर दिखेंगे।


शिमला मिर्च


शिमला मिर्च एक ऐसी सब्जी है जो कि न सिर्फ सलाद के रूप में बल्कि सब्जी बनाकर भी बहुत चाव से खाई जाती है। लेकिन बहुत कम लोग मौजूद जानते हैं कि ये सब्जी केवल स्वाद ही नहीं इसके विषाक्त अलावा इसे खाने से कुछ हेल्दी फायदे भी हैं। त्वचा शिमला मिर्च में विटामीन ए और सी होता है, जो कि बहुत ही शक्तिशाली एंटी ऑक्सीडेंट है। ये - शरीर को हार्ट अटैक, अस्थमा और मोतियाबिंद से लड़ने में सहायता करता है। शिमला मिर्च के अंदर हैंबिल्कुल भी कैलोरी नहीं होती है। इसीलिये ये फायदेमंद खराब कॉलेस्ट्रॉल को नहीं बढ़ाती। साथ ही ये वजन को मेनटेन करने में भी मददगार है। शिमला मिर्च को कैंसर जैसी बीमारियों को ठीक करने के हमें लिये प्रयोग किया जाता है। शिमला मिर्च में पायेजाने वाले विटामीन सी, विटामीन ए और बीटाकैरोटीन अधिक मात्रा में होते हैं। इसीलिये इन बीमारियों में ये लाभदायक होती है।


बींस


बींस में लोहा, पोटेशियम, जिंक, फोलिक एसिड, कैल्शियम और एंटी ऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा होते हैं। इसमें घुलनशील फाइबर होता है, जो खून में कॉलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है, जिससे दिल की बीमारियों से बचाव के साथ मोटापा भी कम होता है। फलीदार सब्जियों में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट की वजह से शरीर के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाता है, जिससे त्वचा में ताजगी एवं निखार आता है।


सेम


बींस की तरह ही सेम में समान तत्व पाये जाते हैं, जिसे स्वस्थ रहने के लिये खाना हमेशा फायदेमंद रहता हैइसमें भी पोटेशियम, जिंक, फोलिक एसिड, कैल्शियम और एंटी ऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा होती है, जो विभिन्न बीमारियों से हमें दूर रखने में मदद करता है।


पुदीना


पुदीने में बहुत सारे लाभकारी तत्व होते हैंसिरदर्द, माइग्रेन, जुकाम और पेट खराब होने पर पुदीने के सेवन से तुरंत ही आराम मिल जाता है। पुदीने के प्रयोग से शरीर से विषाक्त पदार्थ भी बाहर निकल जाते हैं।


परवल एवं लौकी


खाने में परवल की सब्जी के इस्तेमाल से शरीर को ऊर्जा मिलती है। इसी तरह लौकी के सेवन से शरीर में रक्त की वृद्धि होती है, जिससे चेहरा भी आभायुक्त बना रहता है। लौकी शीघ्र पाचक होता है और शरीर में शुगर की मात्रा को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। 


पालक एवं करेला


पालक का सेवन आँखों की रोशनी और चमक के लिये बहुत अच्छा होता है, पालक से हड्डियों को कैल्शियम मिलता है, जिससे हड्डियाँ मजबूत होती हैं। करेला खाने में कड़वा होता है, मगर देखा जाए तो इसके कई फायदे हैं, जैसे- करेले के सेवन से पेट के कीड़े समाप्त होते हैं, यह रक्त के लिये प्यूरीफायर का काम करता है।


ब्रोकोली


ब्रोकोली खाने में स्वादिष्ट होने के साथ सेहत और सुंदरता को कायम रखने के लिये भी अहम होते हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार ब्रोकोली में कैंसर से लड़ने वाले तत्व पाये जाते हैं। इसमें सल्फोराफेन नामक तत्व पाया जाता है, जो शरीर में जाकर कैंसर को बढ़ाने वाले जीन को नष्ट करते हैं।


शलजम


शलजम बहुत कम कैलोरी वाली सब्जी है। इसे एंटी ऑक्सीडेंट, मिनरल और फाइबर का बहुत अच्छा स्रोत माना जाता हैइसका सेवन शरीर में इम्युनिटी को बढ़ाता है और हानिकारक फ्री रेडिकल्स, कैंसर और सूजन से शरीर की रक्षा करता है। इसमें कैल्शियम भरपीर मात्रा में होता है। शलजम की सब्जी किसी भी तरह के रोगियों को बिना किसी डर के सेवन कराई जा सकती है।


  इसलिये अगर सेहत और सौन्दर्य को बरकरार डॉक्टर रखना चाहते हैं तो हरी सब्जियों को नियमित रूप सब्जियों से खाने की थाली में जगह दें। पौष्टिक होने के साथ फायदेमंद यह आपके शरीर की प्रतिरोधी क्षमता भी बढ़ाने में भरपूर सहायक साबित होगी। 


 उपर्युक्त जानकारी विभिन्न स्रोतों से दिये गये है, मगर किसी खास बीमारी से पीड़ित व्यक्ति डॉक्टर की सलाह से ही उसका सेवन करें । हरी सब्जियों का सेवन सामान्य रूप से सबके लिये फायदेमंद है।


 


 


 


Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।

दिल्ली के लिये हरियाणा से पानी की कमी को लेकर आप नेताओं ने किया, दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के घर का घेराव।