कोपा डेल रे में फुटबॉल जगत की सबसे बड़ी टक्कर


कोपा डेल रे में फुटबॉल जगत की सबसे बड़ी टक्कर होने जा रही है। जी हाँ, कोपा डेल रे के सेमिफाइनल में अल क्लासिको  होने जा रहा है। बार्सिलोना और रियल मेड्रिड की टक्कर के लिए तैयार हो जाइये। स्पेन की इन टीमों का इतिहास बहुत बड़ा है। दोनों टीमें इस समय बेहतरीन फॉर्म में हैं। जहाँ पर बार्सिलोना का फॉर्म ज़्यादा अच्छा माना जा रहा है। आखरी बार इन दोनों टीमों का सामना ला लीगा में हुआ था जहाँ बार्सिलोना ने मेसी के बिना खेलते हुए भी रियल मेड्रिड को 5-1 के स्कोर से धाराशाही कर दिया था। इस मैच में लुइस सुआरेज़ ने हैटट्रिक जमाई थी। कोपा डेल रे के दुसरे सेमीफाइनल  में वेलेंशिया और रियल बेटिस के बीच होगी टक्कर।        



 


बार्सिलोना ने क्वार्टरफईनल में  सेविला को 6-3 के एग्रीगेट से हराया।  पहला लेग सेविला के रामों सांचेज़ पिज्जूआं स्टेडियम में खेला गया था। जिसमें सेविला ने बार्सिलोना को 2-0 से हराया था। इस हार के बाद कई लोगों ने यह कहा था की बार्सिलोना छोटी ट्रॉफीज पर ध्यान नहीं दे रही है। पर एर्नेस्तो वाल्वेर्दे, (बार्सिलोना के कोच) ने इस बात को गलत साबित करके अपनी सबसे बेहतरीन टीम खिलाई। इसका नतीजा खेल में भी दिखा जहाँ दुसरे लेग में बार्सिलोना ने अपने होमग्राउण्ड कैंपनू में खेलते हुए सेविला को 6-1 से हराया। 



रियल मेड्रिड ने सेमीफइनल के पहले लेग में खेलते हुए गिरोना को अपने होमग्राउण्ड सेंटिआगो बरनबेऊ में 4-2 से हराया । दुसरे लेग में गिरोना में खेलते हुए भी रियल ने 3-1 से जीत हासिल की थी। 


इस मैच में जान डालने के लिए कई ज़बरदस्त प्लेयर्स भी हैं। अल क्लासिको में सबसे ज़्यादा गोल करने वाले, दुनिया के सबसे बेहतरीन खिलाडियों में से एक, लियोनेल मेसी आकर्षण का केंद्र रहेंगे। और भी कई खिलाडियों पर नज़र रहेंगी जैसे - लुइस सुआरेज़, सर्जिओ रामोस, करीम बेंजेमा ,इवान रकिटिच, मार्सेलो, मोड्रिच, कोटिन्हो, आदि। 


इस मैच में यूँ तो बार्सिलोना को फेवरिट्स माना जा रहा है। लेकिन रियल मेड्रिड जैसी टीम को कम आँकना किसी भी टीम के लिए एक बड़ी गलती साबित हो सकती है। बार्सिलोना और रियल मेड्रिड के बीच सेमीफइनल का पहला लेग बार्सिलोना के कैंपनू में 7 फरवरी 2019 को खेला जाएगा। वहीँ , दूसरा लेग मेड्रिड के सेंटिआगो बरनबेऊ स्टेडियम में 27 फरवरी 2019 को खेला जाएगा।              


     


Popular posts from this blog

समय की मांग है कि जड़ से जुड़कर रहा जाय- भुमिहार महिला समाज।

झारखंड हमेशा से वीरों और शहीदों की भूमि रही है- हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री झारखंड

जन वितरण के सामान को बाजार में बेचे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने की राशन डीलर की शिकायत।